#visionofpictures Instagram Photos & Videos

visionofpictures - 821.4k posts

    random random random

    random random random

    3 1 37 minutes ago
    प्रेम जरुरी क्यों है ? .
साधारणतया और आदर्श रूप में हमारे भीतर प्रेम की मांग तभी होती है,जब हम भावनात्मक रूप से अकेलापान महसूस कर रहे होते हैं। हमें लगता है कि काश कोई होता जो हमारा ख्याल रखता। कोई हमारी ख़ुशी को दूना और ग़म को आधा कर देता।
.
उसके होने भर की कल्पना से मैं खुश होता।
.
ये सहज मानवीयआकांक्षा है जो बस स्वभाविक रूप से पैदा हो जाती है। और किसी उम्र में कभी भी पैदा हो सकती है।
.
कहा भी गया है कि प्रेम आत्मा का भोजन है। लाख सब कुछ हो लेकिन बिना इसके ज़िंदगी बेस्वाद और नीरस हो जाती है।
.
दूसरी मांग शरीर की है मन की है मन की अतृप्त कामनाओं की है। जो भौतिक चकाचौंध से शुरू होती है। जहाँ हमें वो व्यक्ति नहीं उसका रूप,उसका पद,उसका का पैसा,उसका घर,उसकी नौकरी सहज आकृष्ट करते हैं।
.
और हम इन सबमें अपनी अतृप्त मादक कल्पनाओं को तुष्ट करने का प्रयास करने लगतें हैं।
.
लेकिन हम ये नहीं जान पाते कि विवेक न हो तो ये भैतिक कामुकता चित्त में घर कर जाती है। और तब बड़े जोर से आकर्षण हमें जकड़ लेता है।
.
हर वो आदमी जो हमारे अवचेतन में छिपी इस प्यास  और अहंकार को तुष्ट करता हुआ प्रतीत होता है,वो सहज ही आकर्षण का केंद्र हो जाता है। जिसे बड़े ही चालाकी से हम प्रेम का नाम दे देते हैं।
.
हम उस व्यक्ति से बंध से जातें हैं। उसके शरीर,पद, धन,दौलत और भावों के प्रति दिन पर दिन अनुराग बढ़ता जाता है। जो सही मायने में अनुराग कम स्वार्थ ज्यादा होता है।
.
तीसर कारण है सौंदर्य का आकर्षण जिसके छिपी है वासना और कामुकता !
.
लेकिन आप देखें कि इसके पीछे भी हमारा दोष नहीं है।
.
दरअसल हमनें आज़ तक जो प्रेम जाना है,वो हमनें फिल्में देखकर सीखा है। हम हर पल देख रहें हैं कि हीरो हिरोइन की खूबसूरती पर लट्टू हो जाता है और प्यार के गीत गाने लगता है। और हिरोइन उसकी बाँहों में समा जाती है।
.
हमनें ज्यादातर इन्हीं रोमांटिक गानों से जाना है कि रोमांस क्या है। इनके बीच हुए कामुक दृश्यों से समझा है कि प्रेम क्या है ? .
हमारे चित्त में बैठे प्रेम के संस्कार ज़्यादातर इन्हीं माध्यमों से आए हैं।
.
इन संस्कारों ने प्रेम को हमेशा इन्हीं शरीरी औऱ भौतिक आकर्षण के पैमाने से नापा है।
.
और यही कारण है कि ये...
।
(पूरा ब्लॉग बॉयो में है। आप गूगल पर atulkumarari.com टाइप करके भी पढ़ सकतें हैं।
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
#hindi #hindiquotes  #dailyquotes #quotesoftheday  #blogger #hindiblogger #authors  #desi #photoquote #visionofpictures #indiaphotosociety #himalaya #indianheritage #india_clicks #writinglife  #travelblogger #insta

    प्रेम जरुरी क्यों है ? .
    साधारणतया और आदर्श रूप में हमारे भीतर प्रेम की मांग तभी होती है,जब हम भावनात्मक रूप से अकेलापान महसूस कर रहे होते हैं। हमें लगता है कि काश कोई होता जो हमारा ख्याल रखता। कोई हमारी ख़ुशी को दूना और ग़म को आधा कर देता।
    .
    उसके होने भर की कल्पना से मैं खुश होता।
    .
    ये सहज मानवीयआकांक्षा है जो बस स्वभाविक रूप से पैदा हो जाती है। और किसी उम्र में कभी भी पैदा हो सकती है।
    .
    कहा भी गया है कि प्रेम आत्मा का भोजन है। लाख सब कुछ हो लेकिन बिना इसके ज़िंदगी बेस्वाद और नीरस हो जाती है।
    .
    दूसरी मांग शरीर की है मन की है मन की अतृप्त कामनाओं की है। जो भौतिक चकाचौंध से शुरू होती है। जहाँ हमें वो व्यक्ति नहीं उसका रूप,उसका पद,उसका का पैसा,उसका घर,उसकी नौकरी सहज आकृष्ट करते हैं।
    .
    और हम इन सबमें अपनी अतृप्त मादक कल्पनाओं को तुष्ट करने का प्रयास करने लगतें हैं।
    .
    लेकिन हम ये नहीं जान पाते कि विवेक न हो तो ये भैतिक कामुकता चित्त में घर कर जाती है। और तब बड़े जोर से आकर्षण हमें जकड़ लेता है।
    .
    हर वो आदमी जो हमारे अवचेतन में छिपी इस प्यास और अहंकार को तुष्ट करता हुआ प्रतीत होता है,वो सहज ही आकर्षण का केंद्र हो जाता है। जिसे बड़े ही चालाकी से हम प्रेम का नाम दे देते हैं।
    .
    हम उस व्यक्ति से बंध से जातें हैं। उसके शरीर,पद, धन,दौलत और भावों के प्रति दिन पर दिन अनुराग बढ़ता जाता है। जो सही मायने में अनुराग कम स्वार्थ ज्यादा होता है।
    .
    तीसर कारण है सौंदर्य का आकर्षण जिसके छिपी है वासना और कामुकता !
    .
    लेकिन आप देखें कि इसके पीछे भी हमारा दोष नहीं है।
    .
    दरअसल हमनें आज़ तक जो प्रेम जाना है,वो हमनें फिल्में देखकर सीखा है। हम हर पल देख रहें हैं कि हीरो हिरोइन की खूबसूरती पर लट्टू हो जाता है और प्यार के गीत गाने लगता है। और हिरोइन उसकी बाँहों में समा जाती है।
    .
    हमनें ज्यादातर इन्हीं रोमांटिक गानों से जाना है कि रोमांस क्या है। इनके बीच हुए कामुक दृश्यों से समझा है कि प्रेम क्या है ? .
    हमारे चित्त में बैठे प्रेम के संस्कार ज़्यादातर इन्हीं माध्यमों से आए हैं।
    .
    इन संस्कारों ने प्रेम को हमेशा इन्हीं शरीरी औऱ भौतिक आकर्षण के पैमाने से नापा है।
    .
    और यही कारण है कि ये...

    (पूरा ब्लॉग बॉयो में है। आप गूगल पर atulkumarari.com टाइप करके भी पढ़ सकतें हैं।
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    #hindi #hindiquotes #dailyquotes #quotesoftheday #blogger #hindiblogger #authors #desi #photoquote #visionofpictures #indiaphotosociety #himalaya #indianheritage #india_clicks #writinglife #travelblogger #insta

    39 2 1 hour ago

Top #visionofpictures posts

    The size of this cliff in person blows your mind. See the person on the edge for scale.

    The size of this cliff in person blows your mind. See the person on the edge for scale.

    370 9 23 hours ago
    📍Doëlan,Finistère
Belle soirée à tous !💐

    📍Doëlan,Finistère
    Belle soirée à tous !💐

    989 29 21 hours ago